Monday, September 28, 2009

जिन्दगी...

कर दी जिन्दगी जिसके नाम मैने
वो मेरे प्यार को झूठा बताता है॥
जो मेरी याद में चंद आंसू भी बहा न सका

वो मुझको अपने आप से रूठा बताता है॥

आ देख तेरी याद में क्या नही सहा मैंने
थे लब खामोश और कुछ नही कहा मैंने॥
तेरी आवारगी को चुप खामोश देखता रहा यु ही
थी बेवफा तू और ख़ुद को बेवफा कहा मैंने॥

अब नही कोई बंदिशे के मौत पास है मेरे
है हर रहगुजर चुप के अब न कोई जर्रों जार मुझको॥
था बेक़सूर मैं और है जात मेरी साफ़ , के आजा
आँखे बंद नही होती , अब भी तेरा इन्तजार मुझको॥

8 comments:

  1. रचनaा अच्छी है मगर इस उम्र मे नकारात्मक अभिव्यक्ति नहीं होनी चाहिये आगे बढिये अगली बार सकारत्मक कविता लिखिये शुभकामनायें

    ReplyDelete
  2. ब्लॉग जगत में आपका स्वागत हैं, लेखन कार्य के लिए बधाई
    यहाँ भी आयें आपके कदमो की आहट इंतजार हैं,
    http://lalitdotcom.blogspot.com
    http://lalitvani.blogspot.com
    http://shilpkarkemukhse.blogspot.com
    http://ekloharki.blogspot.com
    http://adahakegoth.blogspot.com
    http://www.gurturgoth.com
    http://arambh.blogspot.com
    http://alpanakegreeting.blogspot.com

    ReplyDelete
  3. चिट्ठा जगत में आपका हार्दिक स्वागत है. लिखते रहिये. शुभकामनाएं.

    ---
    समाज और देश के ज्वलंत मुद्दों पर अपनी राय रखने के लिए व बहस में शामिल होने के लिए भाग लीजिये व लेखक / लेखिका के रूप में ज्वाइन [उल्टा तीर] - होने वाली एक क्रान्ति!

    ReplyDelete
  4. हुज़ूर आपका भी एहतिराम करता चलूं.........
    इधर से गुज़रा था, सोचा, सलाम करता चलूं....

    ReplyDelete
  5. बहुत ही सुन्दर रचना । लिखते रहे ।

    स्वागत है ।

    गुलमोहर का फूल

    ReplyDelete
  6. आपका स्वागत है
    आपको पढ़कर अच्छा लगा
    शुभकामनाएं


    *********************************
    प्रत्येक बुधवार सुबह 9.00 बजे बनिए
    चैम्पियन C.M. Quiz में |
    प्रत्येक रविवार सुबह 9.00 बजे शामिल
    होईये ठहाका एक्सप्रेस में |
    प्रत्येक शुक्रवार सुबह 9.00 बजे पढिये
    साहित्यिक उत्कृष्ट रचनाएं
    *********************************
    क्रियेटिव मंच

    ReplyDelete
  7. बहुत ... बहुत .. बहुत अच्छा लिखा है
    हिन्दी चिठ्ठा विश्व में स्वागत है
    टेम्पलेट अच्छा चुना है. थोडा टूल्स लगाकर सजा ले .
    कृपया वर्ड वेरिफ़िकेशन हटा दें .(हटाने के लिये देखे http://www.manojsoni.co.nr )
    कृपया मेरे भी ब्लागस देखे और टिप्पणी दे
    http://www.manojsoni.co.nr और http://www.lifeplan.co.nr

    ReplyDelete
  8. BAHUT BAHUT DHANYAWAAD, SHUKRIYA AAP LOGO KA KE AAPNE APNA KIMTI SAMAY DEKAR MERI KALAM KI SYAAHI KO PADHAA AUR SARAAHA, AAP KE VICHAR SARAHNEEY HAI... AUR SWAAGAT KE LIYE BAHUT BAHUT DHANYAWAAD...

    ReplyDelete